11 अक्तूबर 2011

अमिताभ बच्‍चन पिछले जन्‍म में भी नायक थे....!


 महानायक। शताब्‍दी का नायक। सुपर हिरो। एंग्री यंग मैन। शहंशाह। बिग बी। ना जाने कितने नामों से जाना जाता है अमिताभ बच्‍चन को। न भूतो न भविष्‍यति। ऐसी शख्सियत हैं अमिताभ..... । 11 अक्‍टूबर 1942 को उत्‍तरप्रदेश के इलाहाबाद में जन्‍मे अमिताभ हरिवंश श्रीवास्‍तव के बारे में क्‍या कोई उस वक्‍त जानता था कि आगे चलकर यह हिंदी सिनेमा के आकाश में इस तरह चमकेगा कि इसके सामने सबकी चमक फीकी हो जाएगी...... एक दौर ऐसा भी था जब अमिताभ  बच्‍चन जिस फिल्‍म में मौजूद हो.... उस फिल्‍म की सफलता तय मानी जाती थी.... हालांकि अब भी वो दौर थमा नहीं है.... कुछ असफलताओं के बाद भी अमिताभ आज भी सबसे ज्‍यादा चर्चित... सबसे ज्‍यादा कमाऊ और सबसे ज्‍यादा लोकप्रिय सितारे हैं। आज 11 अक्‍टूबर को अमिताभ बच्‍चन का जन्‍म दिन है। उनकी धर्मपत्‍नी हैं जया भादुडी। उनके साथ हिंदी फिल्‍मों की सबसे सफल जोडी बनाने वाली अभिनेत्री का नाम है रेखा। एक दिन पहले 10 अक्‍टूबर को रेखा का जन्‍मदिन था। दोनों मुंबई में रहते हैं.... जन्‍मदिन में भी सिर्फ एक दिन का फासला... लेकिन कभी न मिलने वाले किनारे की तरह एक दूसरे से जुदा..... क्‍या यह सब सिर्फ तकदीर का लिखा है... महज संयोग या ये कहें पहले से तय था....  यदि ये कहा जाए कि ये सब पिछले जन्‍म से चला आ रहा था तो आप क्‍या कहेंगे.... ?   यदि ये कहा जाए कि अमिताभ बच्‍चन पिछले जन्‍म में भी उम्‍दा कलाकार थे.... पिछले जन्‍म में भी उनकी पत्‍नी वही थीं तो इस जन्‍म में हैं और पिछले जन्‍म में उनकी पत्‍नी रहीं एक अदाकारा इस जन्‍म में उनकी सबसे चर्चित नायिका हैं..... तो इस पर आप क्‍या कहेंगे....?
पुनर्जन्‍म पर ये शोध किया है डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव ने। वे अमेरिकी चिकित्‍सक हैं। उनकी अमेरिका में प्रकाशित एक किताब है, ‘रिटर्न आफ द रिवाल्‍यूशनरीज:द केस फार रीइनकारनेशन एंड सोल ग्रुप्‍स दी युनाईटेड। भारत में यह किताब ‘द बार्न अगेन’ के रूप में आई है। इस किताब को पिछले दिनों मैंने पढा। अमिताभ बच्‍चन के जन्‍मदिन पर काफी सारे लेख लिखे जाएंगे.... उनकी शख्सियत ऐसी है कि पूरा ग्रंथ लिखा जा सकता है.... पर मैंने सोचा कि इस मौके पर यदि इस किताब के कुछ अंश, जो अमिताभ और उनकी जिंदगी से जुडे हैं, उन्‍हें आपसे साझा किया जाए। पहले डाक्‍टर सेमकिव के बारे में बता दूं कि इन्‍होंने इंस्‍टीट्यूट फार द इंटिग्रेशन आफ साइंस इंट्यूशन एंड स्पिरिट (IISIS) की  स्‍थापना की। उनकी यह संस्‍था पुनर्जन्‍म, आत्‍मविकास और  इनसे  संबंधित तथ्‍यों के वैज्ञानिक अध्‍ययन और शोध  के कार्यों के लिए समर्पित है।
डाक्‍टर वाल्‍टर के शोध की मानें तो अमिताभ बच्‍चन इस जन्‍म में ही नायक नहीं बने... यह पिछले जन्‍म से चला आ रहा क्रम है। उनके मुताबिक अमिताभ पिछले जन्‍म में शेक्‍सपीयर के नाटकों के मुख्‍य पात्र थे। पिछले जन्‍म में अमिताभ बच्‍चन का नाम था, एडविन बूथ। यानि कि अमिताभ पिछले जन्‍म से ही ‘बिग बी’ हैं। एडविन बूथ विक्‍टोरियन काल का एक प्रसिध्‍द शेक्‍सपिरियन अभिनेता था.... विश्‍व प्रसिध्‍द अभिनेता के रूप में उनकी ख्‍याति थी लेकिन उनके भाई जान विल्किस बूथ, जिसने अमेरिकी राष्‍ट्रपति अब्राहम लिंकन की हत्‍या की थी के कुकर्मों के कारण एडविन की प्रसिध्दि दब कर रह गई....।  वाल्‍टर के मुताबिक एडविन और अमिताभ में काफी सारी समानताएं थीं.... दोनों विश्‍वप्रसिध्‍द अभिनेता होने के साथ साथ शर्मीले स्‍वभाव के थे.....।
आगे शोध यह कहता है कि एडविन का पूरा परिवार पुनर्जन्‍म लेकर भारत में अवतरित हुआ है और पूर्व जन्‍म में एडविन की दूसरी पत्‍नी रहीं मेरी मैक्सिवर्क्‍स इस जन्‍म में जया भादुरी के रूप में अमिताभ बच्‍चन की पत्नी है। इस जन्‍म में अमिताभ के साथ कई फिल्‍मों में सफल किरदार निभाने वालीं और एक समय दोनों के प्रेम के  चर्चे होने वाली रेखा पिछले जन्‍म में एडविन बूथ की पहली पत्‍नी थीं। यानि कि एडविन की पहली पत्‍नी मेरी डेवलिन ने का पुनर्जन्‍म रेखा के रूप में हुआ है।
डाक्‍ट‍र सेमकिव ने अपनी किताब में काफी सारी समानताओं को लेकर अमिताभ को एडविन का  अवतार बताया है साथ ही रेखा और जया भादुरी को भी पिछले जन्‍म में एडविन से जुडी बताया है। उनकी किताब में अमिताभ के अलावा शाहरूख खान के भी पिछले जन्‍म के बारे में बताया गया है। किताब के मुताबिक शाहरूख पिछले जन्‍म में कलकत्‍ता की अभिनेत्री और नृत्‍यांगना साधना बोस थे। उन्‍होंने इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी, जवाहर लाल नेहरू, बेनजीर भुट्टो, नाना साहेब और बहादुर शाह जफर के पुनर्जन्‍म के बारे में भी बात की है। उनके मुताबिक बहादुर शाह जफर का जन्‍म जवाहर लाल नेहरू के रूप में हुआ था जबकि इंदिरा गांधी पिछले जन्‍म में स्‍वतंत्रता सेनानी नाना साहेब थे। उनके मुताबिक नेहरू जी ने ही बेनजीर भुटटो के रूप में फिर से जन्‍म लिया था। लिंकन की  हत्‍या करने वाला विकिल्‍स बूथ की प्रेमिका लूसी हेले इस जन्‍म में सोनिया गांधी है और उस जन्‍म में अमेरिकी सिनेटर जान पी हेले इस जन्‍म में सोनिया गांधी के पुत्र राहुल गांधी है। हैदर अली ने विक्रम साराभाई के रूप में जन्‍म लिया और टीपू सुल्‍तान ने एपीजे अब्‍दुल कलाम के रूप में।
बहरहाल, डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव की किताब के तथ्‍यों को लेकर एक लंबी चौडी बहस की जा सकती है... काफी सारे सवाल किए जा सकते हैं..... मेरा यह मानना है कि पिछले जन्‍म की बातें तो वैज्ञानिक, धार्मिक और सैध्‍दांतिक आधार पर चर्चा और बहस का विषय हो सकते हैं पर इस जन्‍म में यह तथ्‍य निर्विवाद है कि अमिताभ बच्‍चन जैसे कलाकार बिरले ही होते हैं..... उनका कोई सानी नहीं.......। आपका इस संबंध में क्‍या कहना है......???

सदी के महानायक को जन्‍मदिन की शुभकामनाएं......

20 टिप्‍पणियां:

  1. .
    .
    .
    डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव की किताब के तथ्‍यों को लेकर एक लंबी चौडी बहस की जा सकती है... काफी सारे सवाल किए जा सकते हैं..... आपका इस संबंध में क्‍या कहना है......???

    पिछले अगले जन्मों के बारे में तो नहीं कह सकता पर यह जरूर कह सकता हूँ कि इस तरह के बेबुनियाद-वाहियात निष्कर्षों पर क्योंकि एक पागल ही पहुँच सकता है इसलिये डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव एक पागल व्यक्ति है जो अपने पागलपने को दुनिया से मनवाने पर आमादा है।


    ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव की किताब के तथ्‍यों को लेकर एक लंबी चौडी बहस की जा सकती है... काफी सारे सवाल किए जा सकते हैं..... आपका इस संबंध में क्‍या कहना है......???

    बस यही की एक बार वह हमारे धर्म ग्रंथों का अध्ययन कर ले तो निश्चित रूप से वास्तविकता उनके सामने आ जाएगी .....!

    उत्तर देंहटाएं
  3. बिकने लायक माल और बाजार की समझ है उनको.

    उत्तर देंहटाएं
  4. डाक्‍टर वाल्‍टर सेमकिव के शोध के विषय में तो शायद ज़ादा ना कह पाउंगा लेकिन पुर्न जन्म की अवधारणा को लेकर कुछ सवाल ज़हन में है..भारत ही नहीं अपितु कई स्थानों पर पुर्न जन्म को लेकर कई चौंकाने वाली घटनायें हुई है जिसमे महज़ 6-7 साल के बच्चे को उसके पूर्व परिवार से जुड़े समस्त घटनाक्रम की जानकारी होना जैसे तथ्य शामिल हैं..श्री अमिताभ बच्चन की प्रसिद्धि ने सरहदों की हर लकीरों को कब का मिटा दिया है...लिहाज़ा "द बोर्न अगेन" वैश्वीकरण की तय नीति का हिस्सा भी हो सकता है...बहरहाल उनके जन्मदिन की अनहद शुभकामनायें..........

    उत्तर देंहटाएं
  5. पिछले अगले जन्मों के बारे में तो नहीं कह सकता पर यह जरूर कह सकता हूँ कि इस तरह के बेबुनियाद-वाहियात निष्कर्षों पर क्योंकि एक पागल ही पहुँच सकता है

    उत्तर देंहटाएं
  6. लोग उसे पागल बता रहे हैं मैं कहती हूं उस जैसा स्‍याणा कोई नहीं। कुछ भी लिख मारो और प्रचार से प्रसिद्धी पा लो।

    उत्तर देंहटाएं
  7. डाक्‍टर वाल्‍टर पिछले जन्‍म में भी स्‍याणा-पागल ||

    ‘बिग बी’ !!
    जन्मदिन की अनहद शुभकामनायें ||

    हमारी बधाई स्वीकारें ||

    http://dcgpthravikar.blogspot.com/2011/10/blog-post_10.html
    http://neemnimbouri.blogspot.com/2011/10/blog-post_110.html

    उत्तर देंहटाएं
  8. i dont believe dat...kuchh bhi likho aur pulicity le lo..wats dat??? any way happy baday to ur fav.star...
    pichhle janma ka to nahi pata bt is janm me unke jaisa koi nahi..we r lucky to having the legend in india ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस संबद्ध में मेरा भी मन बहुत कुछ कहने को करता है!..पुनर्जन्म की प्रक्रिया को माना जा सकता है!...लेकिन शंका एक बात की उठ रही है कि क्या पिछले जनम में प्रसिद्धि प्राप्त व्यक्ति ही इस जन्म में भी प्रसिद्धि प्राप्त या बड़े है?...पिछले जनम के सामान्य व्यक्ति इस जन्म में ख्याति प्राप्त नहीं बन सकते?...क्या पिछले जन्म के सामान्य व्यक्ति इस जन्म में भी सामान्य या आम व्यक्ति ही है?...क्या पिछले जनम में दो वक्त की रोटी को तरस रहे लोग,इस जन्म में भी उसी हालत में जी रहे है?...अगर ऐसा है तो कर्मों के फल का क्या हिसाब-किताब है?..मनुष्यों के पाप और पुण्य के अनुसार क्या उन्हें नया जन्म उपलब्ध नहीं होता?

    मेरे पास इस तरह के और भी बहुत से सवाल है..जिनका संतोष जनक जवाब नहीं मिल सकता!...आपने बहुत ही अच्छी जानकारी उपलब्ध कराई है अतुलजी!..धन्यवाद!

    अमिताभ बच्चन जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई!...

    उत्तर देंहटाएं
  10. अमिताभ बच्चन को जन्म दिन की बहुत -बहुत बधाई ..

    उत्तर देंहटाएं
  11. bahut khub
    अमिताभ बच्चन को जन्म दिन की बहुत -बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  12. अमिताभ जी के बारेमे कई लेख पढ़े है ,लेकिन यह लेख सबसे निराला और रोचक है |धन्यवाद |

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    उत्तर देंहटाएं
  14. रोचक लेख... अमिताभ बच्चन जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई!...

    उत्तर देंहटाएं
  15. वाह ... बहुत ही अच्‍छा लिखा है आपने ...अमिताभ जी को जन्‍मदिन की बहुत-बहुत बधाई ।

    उत्तर देंहटाएं
  16. अच्छा लेख है, अमिताभ जी के जन्मदिन पर मेरी तरफ से भी शुभकामनायें. दो बातें कहना चाहूँगा -
    १. बच्चन जी की वो फ़िल्में ज्यादा अच्छी हैं, जिसमे उन्होंने कहानियों को जिया है, जब film की कहानी एक्टर को ध्यान में रखकर लिखी जाने लगे, तो इससे फिल्म और अभिनेता दोनों को नुकसान होता है. इसमे कोई दो राय नहीं की वो एक महान अभिनेता हैं. मुझे उनकी दीवार, मिली, कभी-कभी, सौदागर, एक नज़र, पा फ़िल्में पसंद हैं.

    २. पुनर्जन्म वृहद चर्चा का विषय है, इशकी पुष्टि बहुत मुश्किल है.

    उत्तर देंहटाएं
  17. दिलचस्प जानकारियां , पता नहीं इस शोध में सच्चाई है या महज बाजारवाद का प्रभाव | लेकिन इतनी जानकारियों को पढ़ने के बाद पूरी पुस्तक पढ़ने का दिल जरूर कर रहा है |

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  18. amitabh baaki kalakaron se kuchh jayada nahin hain

    agar indira parivaar ke najdiki na hote to filmon mein commedian hote

    उत्तर देंहटाएं
  19. Ye kis bewkoof he ye lekh likha hai
    Punarjanm baki parivar kahaa gaye.

    उत्तर देंहटाएं