05 अक्तूबर 2011

हो गया एक बरस...


गोवा के समुद्र तट पर ढलते सूरज के साथ मेरी तस्‍वीर
.5 अक्‍टूबर। हर दिन की तरह सामान्‍य दिन.... पर यह दिन मेरे लिए खास बन गया। पिछले साल इसी दिन मैंने ब्‍लाग की दुनिया में कदम रखा था। पांच सितम्‍बर को अपने ब्‍लाग में पहली पोस्‍ट के रूप में अपनी '' दो कविताएं ''  पोस्‍ट करते समय यह अहसास नहीं था कि आगे मुझे इस जगत का इतना प्‍यार मिलेगा। मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि अपने पंद्रह-सोलह साल के पत्रकारिता जीवन में मैंने जितना कुछ पाया था... जितने संबंध मेरे बने थे.... ब्‍लाग  की दुनिया के साल भर उस पर भारी पडेंगे। मुझे इस जगत में कुछ बडे भाई जैसे लोग मिले, जो मुझे समय समय पर मार्गदर्शन देते रहे..... कुछ बहनें मिलीं.....  जिनका सहयोग हर कदम पर मिला.... अच्‍छे दोस्‍त मिले.... ढेरों शुभचिंतक मिले..... एक दो कडवे अनुभवों को यदि छोड दूं तो इस एक साल में मुझे बेहतरीन माहौल यहां मिला। एग्रीगेटरों ने भी मुझे स्‍थान देकर मेरा हौसला बढाया तो साझा ब्‍लागों में भी मुझे सहभागिता के लिए आमंत्रित किया गया। कुल मिलाकर ये साल मुझे काफी कुछ सीखने.... काफी कुछ पढने मिला और कोशिश करूंगा कि आगे भी यह क्रम जारी रहे। मेरे ब्‍लाग में आकर टिपियाने वाले, आकर बगैर टिपियाए चले जाने वालों और मेरे फालोवर्स की सूची में शामिल ब्‍लागर बंधुओं का आभार............... बस हौसला अफजाई के लिए आपका साथ चाहिए..................... 

कविता से मैंने अपने ब्‍लाग की शुरूआत की थी और इसके जन्‍मदिन पर भी एक कविता पेश है..... 


एक नई सुबह...........

आज सूरज फिर लौटेगा
इसी यकीन के साये में
स्‍याह रात को
चिढाया मैंने
यूं ही
खुद को बहलाया मैंने
लेकिन सूरज नहीं लौटा.....!
शायद
रात ने
सूरज को
न लौटने की
कीमत दे दी हो...... !
और उसे
आगोश में ले लिया हो अपने
लेकिन,
यह कैसे संभव है....?
हर रात के बाद
लौटना होता है
सूरज को....।
रात यानि तिमिर,
अंधकार,
दासता,
दाग.........
और सूरज......  
सूरज यानि रौशनी,
उजाला,   
आजादी,
पाक साफ..........
नहीं..... नहीं......
सूरज नहीं बिक सकता.....
वह लौटेगा जरूर....
और तब,
फैलेगा उजाला
फिर होगी सुबह
एक नई सुबह.......................।

35 टिप्‍पणियां:

  1. वक़्त का पहिया तो घूमता और हमेशा घूमता ही रहता है......और हर बार कहीं न कहीं वहीँ आकर एक बार थमता है जहाँ से वो चला था.........आप इसी तरह और प्रसिद्धी पायें और हम जैसे लोगों को मार्गदर्शित करते रहेनी....................इसी आशा के साथ.हार्दिक शुभकामनाएं.......ॐ साईं राम....

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुबारक़ हो आपको सफलताओं का यह सफर...आपकी क़लम सदैव धारदार बनी रहे यही शुभकामना है हमारी........

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपके ब्लॉग की पहली सालगिरह पर आपको बहोत सारी शुभकामनाएँ |

    उत्तर देंहटाएं
  4. वीर तुम बढ़े चलो...
    धीर तुम बढ़े चलो...

    सार्थक ब्लॉगिंग का एक साल पूर्ण होने की बहुत बहुत बधाई...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपके ब्लॉग की पहली सालगिरह पर आपको बहोत सारी शुभकामनाएँ |

    उत्तर देंहटाएं
  6. जो एक दो बुरा हुआ , उसे सुश्री कुंठा कहा जाये ! हौसलों के समानांतर कुंठायें सदैव ही मौजूद रही हैं इस सृष्टि में ! इनके आघात से हमें बेहतर इंसान होने में मदद मिलती है !

    आपको सभी प्रेम करें ! आप यशस्वी हों ! बस यही शुभकामनायें हैं !

    उत्तर देंहटाएं
  7. सूरज नहीं बिक सकता.....
    वह लौटेगा जरूर....
    और तब,
    फैलेगा उजाला
    फिर होगी सुबह
    एक नई सुबह.....................
    ..nayee aas ka sancharn karati sundar rachna..
    blog ke varshganth ki Dashhara kee haardik shubhkamnayen...

    उत्तर देंहटाएं
  8. खूबसूरत |
    सादर नमन ||

    http://neemnimbouri.blogspot.com/2011/10/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह.... बहुत-बहुत मुबारक हो दोस्त!

    दुआ है कि आप भविष्य में भी इसी तरह सार्थक लेखन करते रहें.

    उत्तर देंहटाएं
  10. ब्लागजगत में वर्ष पूरा होने पर बहुत बधाई निश्चित ही ब्लाग जगत आपके आने से संपन्न ही हुआ है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. ब्लॉग पर एक साल होने की बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  12. दिन महीने साल गुज़रते जायेंगे
    हम ब्ल़ॉग में जीते ब्लॉग में मरते जायेंगे

    देख लेना
    देक लेंगे।
    ..नई शुभ की शुभकामनाएँ। इस सुबह की बहुत बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  13. आज युवापीढ़ी में इसी नये विश्‍वास की जरूरत है। बधाई एक वर्ष पूर्ण होने पर। बहुत ही अच्‍छी कविता के लिए भी बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपके ब्लॉग की पहली सालगिरह पर आपको बहोत सारी शुभकामनाएँ |
    बहुत बधाई
    आप भविष्य में भी इसी तरह सार्थक लेखन करते रहें.

    उत्तर देंहटाएं
  15. ब्लॉग की सालगिरह पर हार्दिक शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  16. aapke blog men avataran ke janmdivas kee badhaayi....aur archanaa ji se kshamaayaachna ke saath...unhin ke shabon men,....Archana Gautam ने कहा…
    वक़्त का पहिया तो घूमता और हमेशा घूमता ही रहता है......और हर बार कहीं न कहीं वहीँ आकर एक बार थमता है जहाँ से वो चला था.........आप इसी तरह और प्रसिद्धी पायें और हम जैसे लोगों को मार्गदर्शित करते रहेनी....................इसी आशा के साथ.हार्दिक शुभकामनाएं.......ॐ साईं राम....

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपको बहुत -बहुत बधाई और शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  18. एक साल पूरा होने पर हार्दिक शुभकामनायें ……………आप इसी तरह लिखते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  19. ज़रूर हर रात कि सुबह निश्चित है .... बहुत बढ़िया प्रसुस्ती और एक साल पूरा कर लेने के उपलक्ष में बधाई स्वीकार करें अथवा समय मिले तो आयेगा मेरी पोस्ट पर आपका स्वागत है
    http://mhare-anubhav.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  20. दिन महीने साल गुज़रते जायेंगे
    हम ब्ल़ॉग में जीते ब्लॉग में मरते जायेंगे

    देख लेना
    देख लेंगे।
    ..नई सुबह की शुभकामनाएँ। इस सुबह की बहुत बधाई।

    पहले कमेंट में हुई त्रुटियों के लिए खेद है।

    उत्तर देंहटाएं
  21. क्‍योंकि‍ सूरज जानता है अंधेरों की लाख कहानि‍यां हो, उसकी अपनी हकीकत से अंधरों का कोई रि‍श्‍ता नहीं
    बड़ी तेज है जि‍न्‍दगी, जब मौका मि‍ले

    उत्तर देंहटाएं
  22. jo bik jaaye wo suraj nahin ho sakta. Suraj kabhi nahin bikta hai isliye suraj jaroor ugega. Baharhaal Blog ke ek saal hone par badhai.
    http://aakarshangiri.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  23. ब्लॉग की सालगिरह पर हार्दिक शुभकामनाएं...
    ऐसे ही लिखते रहिये...
    और तब,
    फैलेगा उजाला
    फिर होगी सुबह
    एक नई सुबह.......................।

    उत्तर देंहटाएं
  24. सबसे पहले बहुत बहुत शुभकामना ... आप यूँ ही इस जगत में चमकते रहें . सुन्दर रचना के लिए बधाई..

    उत्तर देंहटाएं
  25. ब्लाग की सालगिरह मुबारक हो ,शुभकामना एवं बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  26. साल पूरा हुआ बधाई।
    अगले तीन सौ पैंसठ दिन की यात्रा फिर शुरु होती है। आपकी यात्रा मंगलमय हो।

    उत्तर देंहटाएं
  27. बहुत प्यारी रचना |बधाई |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  28. इस शुभ अवसर पर आपको ढेरों बधाई। आपके आलेखों ने हिंदी ब्लौगिंग को समृद्ध किया है । आप पर सभी का स्नेह बना रहे और आपकी लेखनी यूँ ही चलती रहे। शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  29. बधाई .सकारात्मक लेखन आशावादी स्वरों के लिए .दिवाली मुबारक .

    उत्तर देंहटाएं
  30. ब्लॉग पर एक साल होने की बधाई ! . आप यूँ ही इस जगत में चमकते रहें

    संजय भास्कर
    आदत....मुस्कुराने की
    पर आपका स्वागत है
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं