05 अक्तूबर 2012

अब सत्‍यमेव जयते ! ... (?)



 आज पूरे दो साल हो गए ब्‍लागिंग करते। इन दो सालों में काफी कुछ सीखने, समझने मिला। काफी सारे अच्‍छे लोग मिले तो कुछ लोगों ने निराश भी किया। पर कहते हैं ना कि अच्‍छों को साथ लेकर चलते रहो और बुरों को बिसरा दो, तो चलता रहा और अब ब्‍लागिंग के जरिए एक बेहतर परिवार मिल गया है।  कुछ लोगों से ऐसे संबंध हो गए हैं, कि उनसे नियमित संवाद होते रहता है। कुछ बडे बुजुर्ग यहां मिल गए। कुछ दोस्‍त मिल गए। कुछ से भाई सा संबंध बन गया तो कुछ बहनें भी बन गईं।
ब्‍लागिंग शुरू की थी, अपनी कलम को चलाए रखने के लिए। उस दौर में न्‍यूज चैनल में काम करता था, सो लिखना कम हो गया था। पढना तो जारी ही था, तो सोचा ब्‍लागिंग के माध्‍यम से अपनी भडास को निकालता रहूं। निकालता भी रहा। नया होने के बाद भी कभी महसूस नहीं हुआ कि यहां उपेक्षित हूं। काफी सारे लोगों ने खूब सहयोग दिया। इसी बीच एक ब्‍लागों की सामूहिक चर्चा का काम भी मिला। उसके माध्‍यम से भी नए नए ब्‍लागरों से परिचय हुआ। प्रारंभ  में लगता था, जितनी ज्‍यादा टिप्‍पणियां मेरी पोस्‍ट में आएंगी, उतना अच्‍छा... सो लगा रहता उसी उधेडबुन में। खुद भी खूब टिपियाता, पर धीरे धीरे समझ आया कई लोग टिप्‍पणी भले ही न करें, पढ लेते हैं। फिर टिप्‍पणियों का मोह कुछ कम होता गया।
अब एक नए दायित्‍व में हूं। एक अखबार भास्‍कर भूमि  के संपादक का दायित्‍व मिला। इस अखबार में समय देने के कारण ज्‍यादा ब्‍लागों में कम ही जा पाता हूं, टिप्‍पणियां नहीं दे पाता लेकिन कुछ ब्‍लागों को नियमित पढने की कोशिश करता हूं, गुगल रीडर के माध्‍यम से।  अखबार शुरू होने के समय से ही लग रहा था कि अब ब्‍लागों में ज्‍यादा वक्‍त नहीं दे पाऊंगा तो ब्‍लाग जगत में अपना योगदान देने के लिए एक योजना बनाई। अपने अखबार में हर दिन ब्‍लाग पोस्‍ट के लिए एक पूरा पन्‍ना रखने की। प्रयोग नया था। सफल होगा, या नहीं, नहीं मालूम था लेकिन इसमें सम्‍मानीय ब्‍लागरों का भरपूर सहयोग मिला, और अप्रैल महीने से शुरू हुए अखबार में अब हर दिन आठ नम्‍बर पन्‍ने का इंतजार ब्‍लागरों को रहने लगा। इसी माध्‍यम से ही सही, ब्‍लाग जगत की सेवा तो कर ही रहा हूं, यह सोचकर संतुष्टि होती है।
बहरहाल, पांच अक्‍टूबर को मेरे ब्‍लाग के दो साल पूरे हो गए हैं। निरंतर लिखने की कोशिश जारी है। चाहा तो था कि दूसरे साल में प्रवेश अपने सौवें पोस्‍ट के साथ करूंगा, लेकिन यह संभव नहीं हो पाया....... थोडा नर्वस हूं, क्‍योंकि क्रिकेट की भाषा में ‘’नर्वस  नाइंटी’’ की स्थिति में हूं।

..... और हां, एक बात और, आज से मेरे ब्‍लाग का शीर्षक मैं बदल रहा हूं, अब से मेरे ब्‍लाग को नए शीर्षक सत्‍यमेव जयते ! ... (?) के नाम से जाना जाए, ऐसी गुजारिश आप सबसे है।

आप सब से सहयोग की उम्‍मीद के साथ अब तक मिले सहयोग के लिए आभार........

19 टिप्‍पणियां:

  1. अरे वाह ...आपको आपके ब्लॉग के दो साल पूरे होने पर हार्दिक शुभकामनायें... वैसे आप माने या ना माने मगर आपने अपने समाचार पत्र में ब्लोगरी का पेज़ रखकर एक बहुत ही नया और बहुत ही अच्छा काम किया है। जो अभी तक तो मैंने और किसी अन्य समाचार पत्र में नहीं देखा। एसा मैं इसलिए नहीं कह रही हूँ क्यूंकि आप वहाँ हमेशा मेरी पोस्ट को स्थान देते हैं,बल्कि इसलिए कह रही हूँ क्यूंकि आपके इस कदम से न सिर्फ पुराने बल्कि नए एवं अच्छे ब्लोगेर्स को अपना नाम और रचना समाचार पत्र में देखने के साथ-साथ आपके समाचार पत्र के माध्यम से अपनी बातों एवं विचारों को आम जनता तक आसानी से पहुंचाने के लिए एक बहुत ही बढ़िया एवं महत्वपूर्ण स्थान मिल गया है।
    आभार....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बधाई एवं शुभकामनायें..... लेखन यात्रा यूँ ही चलती रहे .....

    उत्तर देंहटाएं
  3. समय लगेगा लेकिन जीत तो सत्य की ही होगी!
    बहुत सुन्दर प्रस्तुति... सुप्रभात!

    उत्तर देंहटाएं
  4. सत्‍य की तो सदैव जीत होती है। उसका नाम बदलो या न बदलो।

    उत्तर देंहटाएं
  5. सफलता की शुभकामनाऐं
    भास्कर भूमि पढ़ने के लिए भेजने का अभार भी...

    उत्तर देंहटाएं
  6. ब्‍लॉगिंग के दो वर्ष पूर्ण होने पर बधाई एवं सत्‍यमेव जयते के लिए अनंत शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. sir,
    आपके ब्लॉग पर पहली बार आया हूँ , बहुत अच्छा लगा |
    ब्लोगिंग के 2 वर्ष पूरे होने पर हार्दिक बधाई |

    बचपन से सुनते आये हैं ,
    सत्यमेव जयते ,
    पर अब तक ऐसा दिखा नहीं ,
    ये शायद कुछ यूँ होगा
    सत्यमेव जयते...?

    regards.
    -आकाश
    (http://shroudedemotions.blogspot.com/)

    उत्तर देंहटाएं
  8. बढिया, बहुत बहुत शुभकामनाएं
    नया नाम आकर्षक है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. ब्लोगिंग के 2 वर्ष पूरे होने पर बहुत-बहुत बधाई |
    लेखनी निरंतर चलती रहे..सफल होइए....
    शुभकामनाएँ......
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  10. मेरे नए ब्लाग पर आप सब का स्वागत है..
    http://tvstationlive.blogspot.in/2012/10/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं
  11. ब्‍लॉगिंग के दो वर्ष पूर्ण होने पर हार्दिक बधाई शुभकामनाएं,,,,,,

    RECECNT POST: हम देख न सके,,,

    उत्तर देंहटाएं
  12. बधाई दो साल पूरे होने की। आगे के लिये शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बधाई!
    इंडियन टॉप ब्लॉग्स ने एक नया बीड़ा उठाया है हिन्दी के सर्वश्रेस्ठ ब्लॉगों को संकलित करने का। हमें खुशी है की हिन्दी में कई अच्छे ब्लॉग लिखे जा रहे हैं। लेखनी चलाते रहिए।

    उत्तर देंहटाएं
  14. कल 13/10/2012 को आपकी यह खूबसूरत पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  15. दो वर्ष पूरा करने पर बधाई और शुभकामनायें ...

    उत्तर देंहटाएं